Join Telegram Group (18k members) यहाँ क्लिक करें और जुड़िये
Instagram @reet.bser2022 अभी फॉलो कीजिए

REET 2021 – 30 Jan 2022 की सभी खबरें ,reet survey,reet cancel news

दैनिक भास्कर में रीट 2021 को लेकर मुख्य खबरें

रीट 2021 पर भास्कर सर्वे

दैनिक भास्कर पत्रिका मे रिट 2021 को लेकर कल सर्वे किया गया जिसमें 83 फ़ीसदी लोग रीट 2021 को रद्द करवाने के पक्ष में थे. जैसा कि आज दैनिक भास्कर की हैडलाइन भी है कि 83% लोग रेट रद्द करने के पक्ष में है और 87 परसेंट लोग सरकार की कार्यप्रणाली से असंतुष्ट हैं.

रीट 2021 भर्ती को लेकर 3 सवालों पर 17000 लोगों ने निम्न जवाब दिए

क्या रेट पेपर में नकल हुई थी? परीक्षा रद्द होनी चाहिए क्या?

लगभग 83% लोगों ने यह माना की परीक्षा में नकल नहीं हुई थी और इसे रद्द नहीं करना चाहिए. सारे 83% लोगों ने यह माना कि परीक्षा में नकल हुई थी और इसे रद्द करना चाहिए

भर्ती प्रणाली पर कार्यप्रणाली से क्या आप संतुष्ट हैं?

इसके जवाब में 87% लोगों ने असंतुष्ट का ऑप्शन चुनाव एवं 13% लोगों ने सरकार के काम पर संतोष जाहिर किया.

रेट में नकल के लिए मंत्री और नेता कौन जिम्मेदार है या फिर उसके लिए अफसर जिम्मेदार है?

लगभग 83% लोगों ने माना कि मंत्री और नेता इस बात के लिए जिम्मेदार हैं एवं लगभग 18% लोग इसके लिए अफसरों को जिम्मेदार मानते हैं

साथ ही कई लोगों द्वारा नकल रोकने के सुझाव भी दिए गए जिनको आप निम्न बिंदुओं के माध्यम से पढ़ सकते हैं

  1. दोषी अफसर नेताओं की संपत्ति को जप्त किया जाए एवं आजीवन प्रतिबंध लगा दिया जाए.
  2. काफी लोगों ने यह सुझाव दिया कि प्रदेश में नकल विरोधी कानून लागू हो और दोषियों को उम्रकैद की सजा हो.
  3. यूपी की तर्ज पर कार्यवाही हो यूपी टेट पेपर आउट होने के बाद योगी सरकार ने आरोपियों और गैंगस्टर एक्ट लगाया था एवं घरों पर बुलडोजर चलाने का भी आदेश दिया था.
  4. कई लोगों ने यह भी सुझाव दिया कि सरकारी भर्ती होंगे परीक्षा कराने के लिए एक आयोग का गठन हो और सिर्फ उसे ही यह जिम्मेदारी दी जाए.

आपको बता दें कि राजस्थान में लगभग 16 लाख कैंडिडेट रेट 2021 में बैठे थे. एवं बात करने पेपर लीक को लेकर राजस्थान में सभी के बीच सर्वे करवाया. इनमें से 35 जिलों में 17000 लोगों ने हिस्सा लिया और 14000 लोगों ने रेट रद्द कराने की राय दी. साथ ही लगभग 14000 लोगों ने सरकार के कार्य प्रणाली पर असंतोष जाहिर किया.

रीट 2021 भर्ती को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा गड़बड़ी करने वाले अधिकारियों को तुरंत बर्खास्त करने की बात कही गई है.

ऐसे में कई आला अधिकारियों सहित बोर्ड के सचिव अरविंद कुमार , कॉलेज आयुक्तालय के डॉक्टर सुभाष यादव, एवं डॉ बीएस बेरवा को भी निलंबित कर दिया गया था. एसओजी की रिपोर्ट के अनुसार यादव और बेरवा जिला कोऑर्डिनेटर प्रदीप पाराशर के साथ शिक्षा संकुल में रीड की व्यवस्थाओं में लगे थे.

डीपी जारोली ने पेपर लीग में राजनीतिक संरक्षण की बात को कहा, उनसे की गई वार्ता में उन्होंने बताया कि 24 सितंबर की रात को वह शिक्षा संकुल में नहीं थे, वह 23 सितंबर को दिन में सीधा अजमेर से सीएमआर चले गए. शादी स्ट्रांग रूम में रिटायर्ड कर्मचारियों को जिम्मेदारी देने के सिलसिले में उन्होंने कहा कि प्रदीप पाराशर के अलावा शिक्षा संकुल में 4 अतिरिक्त समन्वयक थे जो शिक्षा संकुल के अधिकारी हैं और बड़े पदों पर काम कर रहे हैं, जो पकड़े गए हैं उनके बारे में उनको मालूम नहीं है.

रेड को निरस्त कर देने के मामले में डीपी जरौली ने कहा कि यह निर्णय सरकार के हाथ में है, राजनीतिक संरक्षण का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि बिना राजनीतिक संरक्षण के यह संभव नहीं है.

वहीं दूसरी ओर जयपुर जिला कोऑर्डिनेटर प्रदीप पाराशर ने एसओजी की 6 घंटे की पूछताछ के बाद बताया कि राम कृपाल मीणा को डीपी दारौली नहीं लगाया था.

वही कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि सरकार और एसओजी की जांच सही दिशा में है एवं इस पर राजनीति ना हो.

इस प्रकार राजस्थान में दैनिक भास्कर में उपरोक्त खबरों को प्रकाशित किया गया.

राजस्थान पत्रिका मे रिट 2021 को लेकर खबर

राजस्थान पत्रिका में रीट 2021 को लेकर सभी प्रकाशित खबरों को आप नीचे क्लिप में पढ़ सकते हैं. बाकी सारी खबरों का सार दैनिक भास्कर मैं रेट 2021 को लेकर खबर वाले सेक्शन में कवर कर दिया गया है.

राजस्थान के 2 बड़े समाचार पत्र दैनिक भास्कर एवं राजस्थान पत्रिका में रेट 2021 भर्ती को कैंसिल करने के संबंध में सर्वे किया गया जिसमें दैनिक भास्कर के बारे में हमने आपको ऊपर बता दिया है शादी राजस्थान पत्रिका ने भी इस सिलसिले में अपना सर्वे करवाया

राजस्थान पत्रिका द्वारा करवाए गए सर्वे को आप निम्न क्लिप में पढ़ सकते हैं-

राजस्थान पत्रिका में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा रीट 2021 भर्ती में हुई गड़बड़ी को लेकर निम्न बातें कही गई जिन्हें आप निम्न क्लिप में पढ़ सकते हैं-

दैनिक नवज्योति में रीट 2021 भर्ती को लेकर सभी मुख्य खबरें

दैनिक नवज्योति समाचार पत्र में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा राजस्थान की मुख्य भर्ती परीक्षाओं में किसी को पकड़े जाने पर किए गए वायदे को निम्न खबर के माध्यम से आप दैनिक नवज्योति के राजस्थान के जयपुर प्रकाशन में पड़ सकते हैं जिसको मैंने नीचे दी गई क्लिप में दिया है आप यहां से भी पढ़ सकते हैं

साथ में रेट 2021 को लेकर विभिन्न आंकड़े इस पत्रिका के माध्यम से हमें बताए गए जिन्हें हम निम्न बिंदुओं से समझ सकते हैं

  1. 26 सितंबर 2021 को हुए रीट के पेपर में लगभग 85% लोगों ने एग्जाम दिया
  2. 16,51,812 लोगों ने दोनों लेवल के लिए अप्लाई किया.
  3. लगभग 1400000 अभ्यर्थियों ने इस परीक्षा को दिया
  4. रीड 2021 मैं लगभग 700000 लोगों ने कोचिंग की
  5. रीट भर्ती 2021 में लेवल वन और लेवल टू दोनों के लिए ₹750 एवं लेवल 1 या लेवल 2 में से किसी एक के लिए ₹550 बोर्ड द्वारा शुल्क लिया लिया गया 6 अरब रुपए विद्यार्थियों से कमाए.

इस पोस्ट में आज 30 जनवरी 2022 को विभिन्न समाचार पत्रों में प्रकाशित खबरों को एक साथ उपलब्ध कराने का प्रयास किया गया है. यदि आपको यह पोस्ट पसंद आए तो आप अपने मित्रों के साथ इसको शेयर कर सकते हैं.

साथ में जनवरी 2022 की रेट 2021 को लेकर सभी खबरों को आप नीचे दी गई लिस्ट के माध्यम से पढ़ सकते हैं